[217 सिल्वर जुबली Points] प्राचीन भारतीय इतिहास | One Liner GK - Ancient Indian History in Hindi

[217 सिल्वर जुबली Points] प्राचीन भारतीय इतिहास | One Liner GK - Ancient Indian History in Hindi

Prachin Bharat Ka Itihas - Indian History Questions And Answers Quiz In Hindi

आज हम यहाँ इस पोस्ट में प्राचीन भारतीय इतिहास के 217 सिल्वर जुबली Points पढ़ेंगे। प्राचीन इतिहास के यह महत्तवपूर्ण  One Liner GK - Ancient Indian History in Hindi आपके सामान्य ज्ञान को बढ़ाएंगे। यहाँ पर दिए गए जेनेरल नॉलेज के बिंदु Prachin Bharat से सम्बंधित हैं।  यह आपको विभिन्न सामान्य ज्ञान और प्रतियोगी परीक्षाओं में आने वाले प्रश्नो को हल करने आपका साथ देंगे। 

हर परीक्षा में प्राचीन भारत से प्रश्न पूछे जाते हैं। यहाँ सभी 217 Ancient Indian History General Knowledge के एक लाइनर GK पढ़ेंगे। इसके बाद आपको किसी भी प्राचीन भारत से सम्बंधित सामान्य ज्ञान के Questions और  Answer Quiz की जरूरत नहीं पड़ेगी। किसी भी सामान्य ज्ञान परीक्षा में Ancient Indian History के सवाल इन्ही बिंदुओं से आते हैं। बस प्राचीन भारत इतने ही पॉइंट्स पढ़ लेना काफी होगा। यहाँ आपको इस पेज के आखिर में Prachin Bharat ke Samany Gyaan ki PDF Free Download कर सकेंगे। 
[217 सिल्वर जुबली Points] प्राचीन भारतीय इतिहास | One Liner GK - Ancient Indian History in Hindi Exams like SSC, SSC CGL CHSL MTS IBPS RBI LIC SBI Banks PO Clerk, UPSC IAS, PCS, BED BTC CTET TET  State Exams in Hindi.

Also Read:

[217 सिल्वर जुबली Points] प्राचीन भारतीय इतिहास | One Liner GK - Ancient Indian History in Hindi


1. होयसल वंश की राजधानी द्वार समुद्र थी ।

2. हिजरी संवत् की शुरुआत 622 ईस्वी में हुई थी ।

3. हिंदू विधि की प्रसिद्ध पुस्तक मिताक्षरा की रचना विज्ञानेशवर ने की थी ।

4. हड़प्पावासी तौल में 16 या उसके आर्वतों का उपयोग करते थे।

5. हड़प्पा सभ्यता को सिंधु सभ्यता का नाम जान मार्शल ने दिया था ।

6. हड़प्पा वासियों का प्रमुख खेल पाशा है ।

7. हड़प्पा को मौसोपोटामिया का उपनिवेश हिल्लर ने कहा था ।

8. हड़प्पा के स्थलों में कांस्य की मूर्ति मोहनजोदड़ो से प्राप्त हुई ।

9. हड़प्पा की खुदाई 1921 में, दयाराम साहनी के द्वारा शुरू करवाई थी ।

10. हजरत मुहम्मद साहब का जन्म 570 ईस्वी में, मक्का में हुआ था ।

11. सोलंकी वंश का संस्थापक मूलराज प्रथम था ।

12. सेल्यूकस मेगास्थनीज का राजदूत था।

13. सेनवंश का संस्थापक सामंत सेन था ।

14. सिकंदर की मृत्यु 323 ईसवी पूर्व में, बेबीलॉन में हुई थी ।

15. सिकंदर और पोरस के बीच के युद्ध को हाईडेस्पीज का युद्ध (वितस्ता या झेलम का युद्ध) कहा जाता है ।

16. सिंहविष्णु, पल्लव वंश का संस्थापक तथा प्रथम शासक थे  ।

17. सिंधु सभ्यता के समूचे क्षेत्रफल का आकार त्रिभुजाकार है ।

18. सिंधु सभ्यता की मुख्य विशेषता  नगर नियोजन थी ।

19. सिंधु सभ्यता का स्थल कालीबंगा का शाब्दिक अर्थ काले रंग की चूड़ियां है ।

20. सिंधु सभ्यता का प्रमुख बंदरगाह लोथल था ।

21. सिंधु घाटी सभ्यता, आद्य ऐतिहासिक काल से संबंधित है।

22. सिंधु घाटी सभ्यता से गाय अंकित मोहरे सबसे कम संख्या में प्राप्त हुई प्राप्त हुई

23. सिंधु घाटी सभ्यता के लोगों की लिपि भाव चित्रात्मक थी ।

24. सिंधु घाटी सभ्यता के लोगों कि प्रमुख फसल गेहूं और जौ थी ।

25. सिंधु घाटी सभ्यता के लोग मातृदेवी की पूजा करते थे ।

26. सिंधु घाटी सभ्यता का सबसे अधिक पूर्वी पुरास्थल आलमगीरपुर, मेरठ तथा उत्तर प्रदेश थे  ।

27. सिंधु घाटी सभ्यता का सबसे अधिक दक्षिणी पुरास्थल दाईमाबाद, अहमद नगर तथा  महाराष्ट्र थे 

28. सिंधु घाटी सभ्यता का कुल क्षेत्रफल 1299600 किलोमीटर है ।

29. सिंधु घाटी सभ्यता का काल 2350 ईस्वी पूर्व से 1750 ईस्वी पूर्व तक माना जाता है ।

30. सामवेद में मंत्रों की संख्या 1549 है ।

31. सामवेद का प्रथम लेखक  जैमनी को माना जाता है ।

32. सातवाहन वंश की नियुक्ति सिमुक द्वारा की गई थी ।

33. साख्य दर्शन के प्रवर्तक कपिल मुनि थे ।

34. सर्वप्रथम  यूनानियों ने भारत को इंडिया नाम से संबोधित किया था ।

35. सरस्वती नदी को ऋग्वेद में सबसे पवित्र नदी माना गया है ।

36. समुद्रगुप्त का राजदरबारी कवि हरिषेण था ।

37. सभी पाषाण संस्कृतियों को प्रागैतिहासिक काल के अंतर्गत रखा गया है।

38. सबसे प्राचीन एवं प्रमाणित समृद्धि मनुस्मृति है ।

39. सबसे अधिक स्वर्ण मुद्राएं गुप्त राजाओं के द्वारा जारी की गई थी ।

40. सत्यमेव जयते को मुंडकोपनिषद से लिया गया है ।

41. श्वेतांबर के संस्थापक स्थूलभद्र थे ।

42. श्वेतांबर और दिगंबर जैन धर्म के दो संप्रदाय थे ।

43. शुभ वंश का संस्थापक पुष्यमित्र शुंग था ।

44. शुद्धाद्वैतवाद सिद्धांत के प्रतिपादक वल्लभाचार्य थे ।

45. शुंग वंश का अंतिम शासक देवभूती था ।

46. शिशुनाग वंश का संस्थापक शिशुनाग था ।

47. वेदव्यास का वास्तविक नाम देव्पायन था ।

48. विशिष्ट द्वैत सिद्धांत के प्रतिपादक रामानुजम थे ।

49. विशाखदत्त के द्वारा मुद्राराक्षस लिखी गई है ।

50. विख्यात तट मंदिर को पल्लव शासक नरसिंह वर्मन द्वितीय ने बनवाया था ।

51. वर्धन वंश की राजधानी थानेश्वर थी ।

52. लोथल, गुजरात मे भोगवा नदी के तट पर स्थित है ।

53. राणा कुंभा ने, चित्तौड़गढ़ में विजय स्तंभ का निर्माण करवाया था ।

54. राजेंद्र तृतीय चोल वंश का अंतिम राजा  था ।

55. राजगृह के समीप पावापुरी में महावीर की मृत्यु हुई थी ।

56. यजुर्वेद की रचना गद्य और पद्य दोनों में की गई।

57. मौर्य वंश का अंतिम शासक वृहद्रथ था ।

58. मोहनजोदड़ो से प्राप्त सबसे बड़ी इमारत अन्नागार है ।

59. मोहनजोदड़ो की खोज सन 1922 में रखालदास बनर्जी ने की थी ।

60. मोहनजोदड़ो का अर्थ मृतकों का टीला होता है ।

61. मेसोपोटामिया का अर्थ दो नदियों के बीच की भूमि है ।

62. मेगास्थनीज के अनुसार भारतीय समाज सात भागों सात भागों में विभाजित था ।

63. मेगस्थनीज सेल्यूकस निकेटर का राजदूत था ।

64. मानव ने सर्वप्रथम तांबा धातु का प्रयोग करना प्रारंभ किया।

65. मानव ने सर्वप्रथम कुत्ते को अपना पालतू जानवर बनाया।

66. मानव ने सबसे पहले गेहूं की खेती का फसल के रूप में उत्पादन शुरू किया।

67. मानव खाद्य पदार्थों का उत्पादक एवं उपभोक्ता नवपाषाण काल में बना ।

68. माउंट आबू पर्वत पर दिलवाड़ा का प्रसिद्ध जैन मंदिर भीम प्रथम के सामंत बिमल ने बनवाया था ।

69. महावीर ने प्राकृत भाषा में अपने उपदेश दिए।

70. महावीर जैन धर्म के 24वें तीर्थंकर थे।

71. महावीर जैन को जैन धर्म का वास्तविक संस्थापक किसे माना जाता है ।

72. महावीर को 42 वर्ष की अवस्था में ज्ञान की प्राप्ति हुई ।

73. महावीर के बचपन का नाम वर्धमान था ।

74. महावीर के प्रथम अनुयाई महावीर का दामाद जमाली थे ।

75. महावीर के पिता का नाम सिद्धार्थ था ।

76. महावीर के दामाद का नाम जमाली था ।

77. महावीर के 11 शिष्य गणधर कहलाते थे ।

78. महावीर की मृत्यु के बाद जैन संघ का अध्यक्ष सुधवर्मन बना था ।

79. महावीर का जन्म 540 ईसवी पूर्व, वैशाली के कुंडग्राम में हुआ था ।

80. महावीर 30 वर्ष की अवस्था में गृह का त्याग कर सन्यासी बने थे ।

81. महाबलीपुरम के एकाश्मक रथों का निर्माण पल्लव राजा नरसिंह वर्मन प्रथम के द्वारा करवाया था ।

82. महात्मा बुद्ध ने सबसे अधिक उपदेश कौशल प्रदेश की राजधानी श्रावस्ती में दिए थे ।

83. महात्मा बुद्ध ने अपना पहला उपदेश सारनाथ में दिया।

84. महात्मा बुद्ध को ज्ञान की प्राप्ति कितने 49वें दिन में हुई ।

85. महात्मा बुद्ध के बचपन का नाम सिद्धार्थ था ।

86. महात्मा बुद्ध के जन्म का प्रतीक चिन्ह कमल है ।

87. महात्मा बुद्ध के गृह त्याग की घटना को महाभिनिष्क्रमण कहा जाता है ।

88. महात्मा बुद्ध की मृत्यु 483 ईसवी पूर्व में, कुशीनगर, उत्तर प्रदेश में हुई थी ।

89. महात्मा बुद्ध का सम्बन्ध क्षत्रियवर्ण से था  ।

90. महात्मा बुद्ध का संबंध रशाक्य वंश से था ।

91. महात्मा बुद्ध का प्रतीक चिन्ह घोड़ा है ।

92. मनुस्मृति किस शुंग वंश के समय में लिखी गई थी ।

93. मनुष्य ने आग का प्रयोग नवपाषाण काल में प्रारंभ किया।

94. मदुरै पांडवों का राजनीतिक एवं सांस्कृतिक केंद्र था ।

95. मत्स्यपुराण से  सातवाहन वंश की जानकारी मिलती है ।

96. भूमि देने की सामंती प्रथा को हर्ष ने प्रारंभ किया था।

97. भुवनेश्वर में लिंगराज मंदिर का निर्माण राजा ययाति केसरी ने करवाया था ।

98. भारतीय संगीत का जनक सामवेद को माना जाता है ।

99. भारत में मूर्ति पूजा गुप्त काल में प्रारंभ हुई।

100. भारत में चिश्ती सिलसिले की शुरुआत ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती ने की थी ।

101. भारत में आर्य सबसे पहले सप्त प्रदेश में बसना शुरू किया।

102. भारत का सबसे बड़ा हड़प्पाई नगर धोलावीरा सा है ।

103. बौद्ध संघ में प्रवेश करने वाली सर्वप्रथम महिला गौतम बुद्ध की सौतेली मां प्रजापति गौतमी थी ।

104. बौद्ध धर्म के संस्थापक गौतम बुद्ध थे।

105. बौद्ध धर्म के बौद्ध धर्म के प्रचार और प्रसार के महेंद्र तथा संघमित्रा को श्रीलंका भेजा था।

106. बुध के सबसे प्रिय शिष्य का नाम आनंद था।

107. बुद्ध के पूर्व जन्म की कहानी जातक में वर्णित है ।

108. बिम्बिसार के समय में मगध की राजधानी राजगृह थी ।

109. बिंदुसार को अमित्रघात्, अमित्रकोडस व सिंह सेन अन्य नाम से जाना जाता है ।

110. इतिहास का प्रागैतिहासिक काल ऐसा काल है जिसका कोई भी लिखित विवरण मौजूद नहीं है।

111. प्रसिद्ध पशुपति की मोहर मोहनजोदड़ो से प्राप्त हुई।

112. प्रथम जैन सभा 322 से 298 ईसवी पूर्व में आयोजित की गई थी ।

113. पृथ्वीराज रासो के रचयिता चंद्रवरदाई है ।

114. पूर्व मीमांसा दर्शन के प्रवर्तक जैमिनी थे ।

115. पुलकेशन दितिय को नरसिंह वर्मन प्रथम ने पराजित किया था ।

116. पुरातत्वविद दयाराम साहनी का हड़प्पा के उत्खनन से संबंध है।

117. पुराणों में अशोक को अशोकवर्धन कहा जाता है ।

118. पुराणों के रचयिता व संग्रहकर्ता  लोमहर्षक तथा उनके पुत्र उग्रश्रवा को माना जाता है ।

119. पाल वंश का संस्थापक गोपाल थे  ।

120. पार्श्वनाथ के चार महाव्रतों में पांचव महाव्रत ‘ब्रह्मचर्य’ महावीर स्वामी ने जोड़ा था ।

121. पहली बौद्ध संगीति  महाकश्यप की अध्यक्षता में हुई थी ।

122. पहला एवं दशावां, ऋग्वेद में बाद में जोड़े गए मंडल हैं ।

123. पल्लव वंश का अंतिम शासक अपराजित था ।

124. न्याय दर्शन के प्रवर्तक गौतम थे ।

125. निर्वाण का शाब्दिक अर्थ दीपक का बुझ जाना होता है ।

126. नालंदा विश्वविद्यालय की स्थापना कुमारगुप्त ने की थी ।

127. नागार्जुन, शून्यवाद के प्रतिपादक थे ।

128. नागदशक उदयिन का पुत्र था ।

129. नंद वंश का अंतिम शासक धनान्द था ।

130. धोलावीरा का शाब्दिक अर्थ सफेद कुआँ है ।

131. धनाराम का सिकंदर के समय मगध पर शासन था

132. द्वितीय जैन सभा वल्लभी में आयोजित हुई थी ।

133. द्वितीय जैन सभा 512 ई. मे आयोजित की गई थी ।

134. दूसरी बौद्ध संगीति वैशाली में हुई थी ।

135. दिल्ली नगर की स्थापना तोमर नरेश अंगपाल ने की थी ।

136. दिगंबर के संस्थापक भद्रबाहु थे ।

137. दंतिदुर्ग राष्ट्रकूट राजवंश का संस्थापक था ।

138. तीसरी बौद्ध संगीति मोगलीपुततिस्स की अध्यक्षता में हुई थी ।

139. तीसरी बौद्ध संगीति पाटलिपुत्र में हुई थी ।

140. तीसरी बौद्ध संगीति अशोक के शासनकाल में हुई थी ।

141. तंत्र-मंत्र वाला वेद अथर्ववेद है ।

142. जैन साहित्य को आगम नाम से जाना जाता है ।

143. जैन धर्म में जीवन का अंतिम लक्ष्य निर्वाण है ।

144. जैन धर्म के त्रिरत्न समय दर्शन, समय ज्ञान व समयक आचरण हैं ।

145. जैन धर्म के 23वें तीर्थंकर पार्श्वनाथ थे ।

146. जैन धर्म का प्रारंभिक इतिहास कल्पसूत्र से ज्ञात होता है ।

147. जेम्स प्रिंसेप ने सर्वप्रथम अशोक के शिलालेखों पढ़ा

148. चौहान वंश का संस्थापक वासुदेव था ।

149. चौहान वंश का अंतिम शासक पृथ्वीराज तृतीय था ।

150. चौथी बौद्ध संगीति वसुमित्र व अश्वघोष अध्यक्षता में हुई थी ।

151. चौथी बौद्ध संगीति प्रथम शताब्दी में प्रारम्भ हुई थी ।

152. चौथी बौद्ध संगीति  कनिष्क के  शासनकाल में हुई थी ।

153. चोल वंश का अंतिम शासक राजा द्वितीय था ।

154. चावल के साक्ष्य हमें रंगपुर एवं लोथल से प्राप्त हुए हैं ।

155. चार वेद ऋग्वेद, सामवेद, यजुर्वेद और अथर्ववेद हैं ।

156. चाक का आविष्कार नवपाषाण काल में हुआ था ।

157. चंद्रगुप्त शब्द का पहला उल्लेख रुद्रदामन के जूनागढ़ अभिलेख से मिलता है ।

158. चंद्रगुप्त मौर्य ने मौर्य वंश की नींव किसको धनान्द को पराजित कर रखी थी ।

159. चंद्रगुप्त मौर्य ने जैन धर्म की शिक्षा भद्रबाहु से ली थी ।

160. चंद्रगुप्त मौर्य के दरबार में आने वाला प्रसिद्ध यूनानी मेगस्थनीज था ।

161. चंद्रगुप्त मौर्य का जन्म 345 ईसवी पूर्व में हुआ था ।

162. चंद्रगुप्त मौर्य अपने अंतिम समय में जैन धर्म का अनुयाई बन गया था

163. चंद्रगुप्त द्वितीय (विक्रमादित्य) समुद्रगुप्त का उत्तराधिकारी था ।

164. गौतम बुद्ध के पिता का नाम शुद्धोधन था ।

165. गौतम बुद्ध की पत्नी का नाम यशोधरा था ।

166. गौतम बुद्ध का लालन पालन  महात्मा बुद्ध की मौसी प्रजापति गौतमी ने किया था ।

167. गुर्जरा अभिलेख मध्य प्रदेश से प्राप्त हुआ है ।

168. गुप्त वंश का संस्थापक श्रीगुप्त था ।

169. गुप्त वंश का प्रथम महान सम्राट चंद्रगुप्त प्रथम था ।

170. गुप्त काल को भारतीय इतिहास में स्वर्ण युग के नाम से किस काल को जाना जाता है ।

171. गुजरात में लिपस्टिक, काजल तथा चार पहियों वाली गाड़ी के साक्ष्य चन्हुदड़ो से प्राप्त हुए हैं ।

172. गीत गोविंद जयदेव के द्वारा लिखी गई है ।

173. गायत्री मंत्र का संबंध ऋग्वेद से है।

174. गहड़वाल वंश का संस्थापक चंद्रदेव था ।

175. गंगो की प्रारंभिक राजधानी कोलर थी ।

176. खरोष्ठी लिपि दाई ओर से बाई ओर लिखी जाती है ।

177. कौटिल्य ने अर्थशास्त्र की रचना।

178. कुषाण वंश का सबसे प्रसिद्ध शासक कनिष्क था ।

179. कुषाण वंश का अंतिम राजा वासुदेव था ।

180. कांसे की नर्तकी, व पुजारी का भवन के साक्ष्य मोहनजोदड़ो से प्राप्त हुए हैं ।

181. कल्याणी के चालुक्य वंश की स्थापना तैलप द्वितीय ने की थी ।

182. कल्पसूत्र को संस्कृत में भाषा में लिखा गया है ।

183. कनिष्क ने अपनी दूसरी राजधानी मथुरा को बनाया  ।

184. कण्व वंश का संस्थापक वासुदेव था ।

185. ओदन्तपुरी विश्वविद्यालय की स्थापना गोपाल ने की थी ।

186. एशिया माइनर आर्यों का मूल निवास स्थान था।

187. ऋग्वैदिक सभ्यता का काल 1500-1000 ई. पू. तक माना जाता है ।

188. ऋग्वेद सबसे प्राचीनतम वेद है।

189. ऋग्वेद में सबसे बाद का मंडल दसवां मंडल है ।

190. ऋग्वेद में यमुना नदी का उल्लेख 3 बार हुआ है ।

191. ऋग्वेद मे मंडलों की संख्या 10 है ।

192. ऋग्वेद का 9वां मंडल सोम देवता को समर्पित है ।

193. इस्लाम धर्म के संस्थापक हजरत मुहम्मद साहब हैं ।

194. इंडिका की रचना मेगास्थनीज ने की

195. आर्यों का प्रिय पशु घोड़ा था ।

196. आर्यों का प्रिय देवता इंद्र था ।

197. आर्य सर्वप्रथम पंजाब एवं अफगानिस्तान में बसे थे ।

198. आदिमानव ने सर्वप्रथम आग जलाना सीखा था ।

199. अष्टाध्याई के लेखक पाणिनी है ।

200. अष्टांगिक मार्ग का संबंध बौद्ध धर्म से है ।

201. अशोक ने, वितस्ता नदी के तट पर श्रीनगर की स्थापना की थी ।

202. अशोक ने सांची के स्तूप का निर्माण करवाया था

203. अशोक ने भारत में शिलालेख का प्रचलन प्रारम्भ किया था ।

204. अशोक को अन्य नाम देवनाम प्रिय और प्रियदर्शी नामों से जाना जाता है ।

205. अशोक के पिता का बिंदुसार नाम था ।

206. अशोक के गुरु मोगलिपुत्रतिस्स थे ।

207. अशोक के कलिंग युद्ध का वर्णन 13वें अभिलेख में मिलता है ।

208. अशोक की माता का नाम  सुभद्रांगी था ।

209. अशोक का सबसे बड़ा स्तंभ लेख सातवां स्तंभ लेख है ।

210. अशोक का सबसे छोटा अभिलेख रुम्मिनदेई अभिलेख है ।

211. अशोक का नाम अशोक के मास्की एवं गुर्जरा अभिलेख में मिलता है ।

212. अथर्ववेद में मंत्रों की संख्या 5839 है ।

213. अगुंतर निकाय में 16 महाजनपदों का वर्णन किया गया है ।

214. अंतिम गुप्त शासक भानुगुप्त था ।

215. 630 से 644 ईसवी के बीच चीनी यात्री ह्वेनसांग भारत आया था ।

216. 261 ईसवी पूर्व में कलिंग युद्ध कब हुआ था ।

217. (हर्यक वंश) आजात शत्रु का पुत्र उदयन पाटलिपुत्र नगर का संस्थापक था ।



[217 सिल्वर जुबली Points] प्राचीन भारतीय इतिहास | One Liner GK - Ancient Indian History in Hindi Exams like SSC, SSC CGL CHSL MTS IBPS RBI LIC SBI Banks PO Clerk, UPSC IAS, PCS, BED BTC CTET TET  State Exams in Hindi.
उपर्युक्त पोस्ट से सम्बंधित विषय -
पढ़ें: टॉपर्स पसन्द टॉपिक्स और नोट्स / मुख्य विषय -
पढ़ें: परीक्षा उपयोगी स्टडी मटेरियल -

Share This Topic On




0 Comments:

Post a comment