शब्द-युग्म - परिभाषा, अर्थ, भेद एवं उदाहरण | Shabd Yugm

शब्द-युग्म - परिभाषा, अर्थ, भेद एवं उदाहरण | Shabd Yugm

    शब्द-युग्म | Shabd Yugm in Hindi

    सामान्यतः बातचीत करते समय या लिखते समय हम कई बार अपनी बातों को प्रभावशाली बनाने के लिए वाक्य में एक ही शब्द को लगातार दो बार बोलते हैं या दो समानार्थी शब्दों या दो विलोम शब्दों को साथ-साथ बोलते या प्रयोग कर लेते हैं।  

    जैसे-

    वह बार-बार मुझे देख रहा था।

    रवि के पास पर्याप्त धन-संपदा है।

    इस व्यापर में मुझे कुछ भी हानि-लाभ नहीं हुआ।

    मोहन ने अपनी बची-खूची ज़मीन भी दान कर दी।


    इन वाक्यों में क्रमश: बार-बार, धन-संपदा, हानि-लाभ तथा बची-खुची ऐसे शब्द हैं, जो साथ-साथ प्रयोग हो रहे हैं और इनसे वाक्य प्रभावशाली बन रहे हैं। अतः इस प्रकार के ऐसे शब्दों को शब्द-युग्म कहते हैं।


    शब्द-युग्म की परिभाषा-

    जब दो शब्दों को एक जोड़े के रूप में प्रयोग किया जाता है, तो उन्हें 'शब्द-युग्म' कहते हैं। 


    शब्द-युग्म का अर्थ-

    युग्म ' का अर्थ है-जोड़ा।


    शब्द-युग्म के कुछ उदाहरण 

    हरे-हरे, 

    आते-जाते, 

    अस्त-व्यस्त, 

    तितर-बितर  

    तरह-तरह आदि।


    शब्द-युग्म के भेद / प्रकार  

    शब्द-युग्म के 6 भेद होते हैं-

    (क) पुनरुक्त 

    (ख) सजातीय या समवर्गीय

    (ग) समानार्थक 

    (घ) विपरीतार्थक

    (ड) समानार्थक-निरर्थक 

    (च) निरर्थक


    (क) पुनरुक्त शब्द-युग्म

    जब किसी शब्द का दो बार जोड़े के रूप में प्रयोग किया जाता है, तो शब्द के ऐसे युग्म को 'पुनरुक्त शब्द युग्म' कहा जाता है।

    पुनरुक्त शब्द-युग्म के उदाहरण  

    धीरे-धीरे 

    गाँव-गाँव 

    हाथों-हाथ 

    चलते-चलते 

    पास-पास 

    घर-घर

    हरे-भरे 

    छोटे-छोटे 

    आगे-आगे 

    अच्छे-अच्छे 

    बड़े-बड़े

    कुछ-का-कुछ

    नीचे-ही-नीचे

    ढेर-के-ढेर

    कोई-न-कोई


    (ख) सजातीय या समवर्गीय शब्द-युग्म

    जब किसी शब्द के युग्म में सामान जाति या सामान वर्ग के शब्दों का प्रयोग किया जाता है, तो शब्द के ऐसे युग्म को 'सजातीय या समवर्गीय शब्द-युग्म' कहा जाता है।

    सजातीय या समवर्गीय शब्द-युग्म के उदाहरण  

    पशु-पक्षी 

    तड़के-सवेरे 

    नहाना-धोना 

    दौड़-भाग

    उठना-बैठना 

    शाक-सब्जी  

    वर-वधू 

    जैसे-तैसे

    रहन-सहन 

    जीव-जंतु 

    माँ-बाप 

    दीन-दुखी

    धर्म-कर्म 

    घोड़ा-हाथी 

    खेल-कूद 

    दूध-दही

    पूजा-पाठ 

    चावल-दाल 

    दिन-दोपहर 

    'पढ़ाई-लिखाई

    माँ-बहन

    खान-पान 

    धन-धान्य 

    गीत-संगीत


    (ग) समानार्थक शब्द-युग्म

    जब किसी शब्द के युग्म में सामान अर्थ के शब्दों का प्रयोग किया जाता है, तो शब्द के ऐसे युग्म को 'सजातीय या समवर्गीय शब्द-युग्म' कहा जाता है।

    समानार्थक शब्द-युग्म के उदाहरण  

    आदर-सत्कार 

    धन-संपदा 

    मान-सम्मान 

    सुबह-सवेरे

    बाल-बच्चे 

    रूखा-सूखा 

    सखी-सहेली

    जादू-टोना

    अच्छा-भला 

    चैन-सुकून 

    अमन-शांति 

    गाछ-वृक्ष

    प्यार-मुहब्बत 

    भूत-प्रेत 

    काम-काज 

    सुख-चैन



    (घ) विपरीतार्थक शब्द-युग्म

    जब किसी शब्द के युग्म में विलोम या विपरीत अर्थ के शब्दों का प्रयोग किया जाता है, तो शब्द के ऐसे युग्म को 'विपरीतार्थक शब्द-युग्म' कहा जाता है।

    विपरीतार्थक शब्द-युग्म के उदाहरण  

    नया-पुराना 

    उठना-बैठना 

    ऊपर-नीचे 

    इधर-उधर

    सुबह-शाम 

    थोड़ा-बहुत 

    माता-पिता 

    लेन-देन

    देव-दानव 

    हानि-लाभ 

    इधर-उधर 

    दिन-रात

    छोटा-बड़ा 

    सुख-दुख 

    यहाँ-वहाँ 

    आगे-पीछे

    आकाश-पाताल 

    गरीब-अमीर 

    सुबह-शाम 

    जीवन-मृत्यु


    (ङ) सार्थक-निरर्थक या छंदबद्ध शब्द-युग्म

    जब किसी शब्द के युग्म में सार्थक और निरर्थक शब्दों के साथ छंदबद्ध युक्त शब्दों का प्रयोग किया जाता है, तो शब्द के ऐसे युग्म को 'सार्थक-निरर्थक या छंदबद्ध शब्द-युग्म' कहा जाता है।

    सार्थक-निरर्थक या छंदबद्ध शब्द-युग्म के उदाहरण 

    आर-पार 

    थैला-वैला 

    सज-धज 

    चादर-वादर

    चाय-वाय 

    गप-शप 

    बची-खुची 

    चेहरा-मोहरा


    (च) निरर्थक शब्द-युग्म

    जब किसी शब्द के युग्म में निरर्थक शब्दों का प्रयोग किया जाता है, तो शब्द के ऐसे युग्म को 'निरर्थक शब्द-युग्म' कहा जाता है।

    निरर्थक शब्द-युग्म के उदाहरण  

    अनाप-शनाप 

    ऐरा-गैरा 

    साँठ-गाँठ 

    चटटे-बटूटे

    खुसर-फुसर 

    अंट-शंट 

    हट्टा-कट्टा 

    अटर-पटर


    Please Share . . .

    Related Links -
    पढ़ें: टॉपर्स नोट्स / स्टडी मटेरियल-

    0 Comments:

    Post a Comment