परमाणु संरचना | इलेक्ट्रॉन | प्रोटॉन | न्यूट्रॉन | | Atomic Structure

परमाणु संरचना | इलेक्ट्रॉन | प्रोटॉन | न्यूट्रॉन | | Atomic Structure

    परमाणु संरचना | Learn Atomic Structure For Class IX, X, XI & XII  in Hindi

    परमाणु संरचना | Atomic Structure in Hindi

    परमाणु :- किसी तत्व के वे सूक्ष्मतम कण जिनसे अणु  बनते हैं, जो रासायनिक अभीक्रिया में बिना अपघटित हुए भाग ले सकते हैं परमाणु कहलाते हैं. अणु रासायनिक रुप अविभाज्य होते हैं उनका आकार अतिसूक्ष्म तथा भार बहुत ही कम होता है। 


    परमाणु के मूल घटक :- (1) इलेक्ट्रॉन (2) प्रोटॉन  (3) न्यूट्रॉन 


    (1) इलेक्ट्रॉन :- 

    यह एक अति सूक्ष्म ऋटणावेशित कण है। एक इलेक्ट्रॉन पर इकाई का ऋण आवेश होता है। एक इलेक्ट्रान का द्रव्यमान हाइड्रोजन परमाणु के द्रव्यमान का लगभग 1/1837वाँ भाग होता है। किलोग्राम में इलेक्ट्रॉन का द्रव्यमान 9.1X10-31 होता है इसकी खोज  जे० जे० टामसन ने की थी। एक इलेक्ट्रॉन पर 16X10-19 कूलाम का ऋण आवेश होता है। 



    (2) प्रोटॉन :- 

    यह एक अव्य सूक्ष्म धनावेशित कण है। एक प्रोटॉन पर एक इकाई धन आवेश होता है। प्रोटॉन का द्रव्यमान हाइड्रोजन के द्रव्यमान के बराबर होता है। किलोग्राम में प्रोटॉन का द्रव्यमान 1.6725 X 10-27 होता है। एक प्रोटॉन पर 1.6X1910-19 कुलाम का धन आवेश होता है। हाइड्रोजन परमाणु में से इलेक्ट्रान बाहर निकल जाने पर जो धन आवेशित कण (H+) शेष रहलाता है, उसे हाइड्रोजन परमाणु का नाभिक या प्रोटॉन कहते हैं इसकी खोज दरफोर्ड नामक वैज्ञानिक ने की थी।




    (3) न्यूट्रॉन :- 

    यह एक विद्युत उदासीत कण है न्यूट्रॉन का द्रव्यमान हाइड्रोजन परमाणु के द्रव्यमान लगभग बराबर होता है। किलोग्राम में न्यूट्रॉन का द्रव्यमान 1.6728X 10-27 होता है। न्यूट्रॉन की खोज चैडविक नामक वैज्ञानिक ने की थी। 



    प्र० इलेक्ट्रान के विशिष्ट आवेश की परिभाषा दीजिए तथा इसका मात्र सार्वत्रिक नियतांक क्या होता है?

    इलेक्ट्रान के आवेश (L) तथा इलेक्ट्रान के द्रव्यमान के अनुपात को इलेक्ट्रान का विशिष्ट आवेश कहते है ।

    इलेक्ट्रान का विशिष्ट आवेश =(इलेक्ट्रान का आवेश/ इलेक्ट्रान का द्रव्यमान)
    1.60X1091 / 9.1X 1031 = 1.795x1018 कूलाम

    इलेक्ट्रान का विशिष्ट आवेश विसर्जन नली के इलेक्ट्रोडों  के पदार्थ या नली में ली गयी गैस की प्रकृति पर निर्भर नहीं करता।  अतः इलेक्ट्रान का विशिष्ट आवेश सार्वत्रिक नियतांक है।

    Please Share . . .

    Related Links -
    पढ़ें: टॉपर्स नोट्स / स्टडी मटेरियल-

    0 Comments:

    Post a Comment

    Around The World / जरा हटके / अजब गजब