Narration or Basic Direct And Indirect Speech Rules In Hindi

Narration or Basic Direct And Indirect Speech Rules In Hindi


Basic Direct And Indirect Speech Rules In Hindi

Narration / Direct and Indirect Speech क्या है ?
अंग्रेजी में यह  बहुत ही महत्वपूर्ण Topic  है, Direct Speech को प्रत्यक्ष कथन तथा Indirect Speech. को अप्रत्यक्ष कथन कहते हैं  Direct And Indirect Speech Rules In Hindi बहुत ही सरल और आसान है । यह Topic जब विद्यार्थियों को समझ में नहीं आता  है तो उन्हें यह Lesson बहुत कठिन  लगता है जिसे हम आज आपको बहुत अच्छे ढंग  से बहुत सारे उदहारण के साथ सभी नियमों के साथ समझाने की कोशिश करूँगा  जिसके बाद आपको कभी Direct and Indirect Speech से सम्बंधित  कोई Problem नहीं होगा।
Read:-  Direct Speech को  Indirect Speech में परिवर्तन करने के लिए महत्त्वपूर्ण नियम

Basic Direct And Indirect Speech Rules In Hindi
"किसी व्यक्ति  के द्वारा  कही गई  बात को हम दूसरे व्यक्ति से  दो तरीकों से बता सकते हैं।
1.   उस व्यक्ति की  बात को दूसरे व्यक्ति को "जैसे के तैसे" ही बता सकते हैं;

अथवा
2   उस व्यक्ति की  बात को दूसरे व्यक्ति से  अपने शब्दों में उसके कहे गये अर्थ को बता दें।

अर्थात
"दूसरे शब्दों में यह कहे यदि किसी व्यक्ति की  बात को दूसरे व्यक्ति से  अपने शब्दों में कहें परन्तु शब्दों का अर्थ बिलकुल बदलना नहीं चाहिए, इन्ही  शब्द या वाक्य को ही अप्रत्यक्ष कथन (Indirect  Speech ) कहते हैं।"

Direct & Indirect Speech Rules (Hindi)
निम्नलिखित उदाहरण पर विचार करें ;
Ram said , "I am going to America now."
यह Direct Speech का वाक्य है, अब हम इसका Indirect Speech बनाते हैं जो निम्न प्रकार से बनेगा;
Ram said that he was going to America then.

दिए गए उपर्युक्त उदाहरण से हमने देखा कि  कैसे Direct Speech को हम Indirect Speech में बदल सकते हैं।अंग्रेजी में  Direct Speech को  Indirect Speech में परिवर्तन करने के लिए  कुछ नियमों का उपयोग  करते  है जिससे  Direct Speech को  Indirect Speech में  परिवर्तित करना आसान हो जाता है।

·        Direct Speech के दो भागों को जब आपस में जोड़ते हैं तो जोड़ने  के लिए किसी शब्द (Conjuction) का उपयोग करते  है। जैसाकि उपर्युक्त उदाहरण  में हमने  that का प्रयोग किया  है।
·        Indirect Speech के शब्द बनाते समय Noun को  Pronoun में या Pronoun को ही दूसरे Pronoun में बदलना पड़ सकता है।  जैसाकि उपर्युक्त उदाहरण  में हमने I को he में प्रवर्तित किया  है।
·        Indirect Speech  बनाते समय  Tense को आवश्यकतानुसार बदलते हैं जैसाकि उपर्युक्त उदाहरण  में हमने  Present Continuous Tense को   Past Continuous Tense में बदला  है।
·        कुछ समय वाक्यों में   काल को दर्शाने वाले शब्द को और सहायक क्रियाओं को Change कर देते  है। जैसाकि उपर्युक्त उदाहरण  में हमने now को then में बदल दिया  है।

पढ़ें: टॉपर्स पसन्द टॉपिक्स और नोट्स -
पढ़ें: परीक्षा उपयोगी स्टडी मटेरियल -

Share This Topic On




0 Comments:

Post a comment