रीजनिंग-घूर्णन (Rotations)

रीजनिंग-घूर्णन (Rotations)

    घूर्णन  (Rotations): घूर्णन को परिभाषित करने के लिए सर्वप्रथम यह जानना होता है की घूर्णन किस बिंदु या अक्ष के परित: हो रही है कोई  भी बिंदु जब वह घूर्णन करता है तो आपने अच्छे के परिता अथवा किसी निश्चित निश्चित बिंदु के चारों ओर निम्नलिखित केवल दो ही दिशाओं में ही घूर्णन करता है

    1. दक्षिणावर्त घूर्णन 
    2. वामावर्त घूर्णन 

    दक्षिणावर्त घूर्णन  (Clock-wise Rotations):: जब कोई बिंदु अपने अक्ष के परित: घड़ी की सुइयों की चलने की दिशा में  घूर्णन करता है तो वह घूर्णन दक्षिणावर्त घूर्णन कहलाती है

    दक्षिणावर्त घूर्णन  (Clock-wise Rotations) pics


    वामावर्त घूर्णन (Anti Clock-wise Rotations)::  : जब कोई बिंदु अपने अक्ष के परित: घड़ी की सुइयों की चलने की दिशा के विपरीत दिशा  में  घूर्णन करता है तो वह घूर्णन  दक्षिणावर्त घूर्णन कहलाती है

    वामावर्त घूर्णन (Anti Clock-wise Rotations) pics


    Please Share . . .

    Related Links -
    पढ़ें: टॉपर्स नोट्स / स्टडी मटेरियल-

    0 Comments:

    Post a Comment

    Around The World / जरा हटके / अजब गजब