रीजनिंग-कथन और पूर्वधारणाएं (Statement And Assumptions)

रीजनिंग-कथन और पूर्वधारणाएं (Statement And Assumptions)




पूर्वधारणा (ASSUMPTION) से संबंधित कुछ महत्वपूर्ण तथ्य
(Some important facts related to prediction)

पूर्वधारणा (ASSUMPTION)  हमेशा सामान्य (normal) होती है
कोई भी पूर्वधारणा (ASSUMPTION)  हमेशा अनिश्चित और सकारात्मक (positive) होनी चाहिए
किसी पूर्वधारणा (ASSUMPTION) में कथन और पूर्वधारणा (ASSUMPTION) सदैव एक दूसरे के सार्थक होनी चाहिए
किसी पूर्वधारणा (ASSUMPTION) में अधिकतर , बहुत से, बहुत, इत्यादि शब्द  मौजूद होते हैं
कुछ शब्द, केवल, प्रत्येक, किसी भी, प्रत्येक, सभी, (only, each, any, every, all) प्रश्न बनाने वाले शब्द  (क्यों, ये, क्या-why, this, what), उत्तर की ओर इशारा करने वाले  शब्द (इसलिए-therefore), निश्चित रूप से, लेकिन/ किन्तु /परन्तु आदि   पूर्वधारणा (ASSUMPTION)  में अगर  मौजूद हैं तो पूर्वधारणा (ASSUMPTION)  हमेशा स्पष्ट (गलत-wrong- explicit) होगी।
कुछ शब्दों जैसे कुछ, बड़ी हद तक, कई, बहुत,  पूर्वधारणा (ASSUMPTION)  में मौजूद हैं तो  पूर्वधारणा (ASSUMPTION)  हमेशा अंतर्निहित (सत्य-true- implicit) है
किसी पूर्वधारणा (ASSUMPTION) में जब  विज्ञापन, नोटिस, अपील / संदेश को अभिव्यक्त कर रही हो , तो  पूर्वधारणा (ASSUMPTION)  हमेशा अन्तर्निहित  (सत्य –true- implicit) रहती है।


ऐसी पूर्वधारणा (ASSUMPTION) जो कि जनहित के लिए सूचित किए गए कथन के प्रभाव एवं सूचना देने वाले के कर्तव्य बोध को प्रदर्शित करता हो तथा जिसे न जारी करने पर हानिकारक प्रभाव की संभावना हो को वैध मानना चाहिए
किसी भी पूर्वधारणा (ASSUMPTION) में कथन से बाहर की बात यानी कि पूर्व धारणा कथन से व्यापक नहीं होनी चाहिए
कोई भी पूर्वधारणा (ASSUMPTION)  जो सामाजिक कल्याण (सकारात्मक -positive), सरकार की नीतियां  दर्शा रही हो तो पूर्वधारणा (ASSUMPTION)  हमेशा अंतर्निहित (सत्य-true- implicit) होगी ।
अगर कोई पूर्वधारणा (ASSUMPTION)  पिछले और भविष्य के बारे में बात कर रही है, तो पूर्वधारणा (ASSUMPTION)  हमेशा सुस्पष्ट होगी (गलत –wrong- explicit)
अगर किसी भी पूर्वधारणा (ASSUMPTION) में  सुझाव, आदेश, अनुरोध जैसे शब्द प्रदर्शित होते  हैं तो यह  हमेशा अंतर्निहित (सत्य- true- implicit) होगी।
जो समान कर्म पर किसी  कारण Cause के फलस्वरुप दो वस्तुओं पर समान प्रभाव को व्यक्त करता है ऐसी पूर्वधारणा (ASSUMPTION) को वैध मानना चाहिए
जो समान कर्म पर किसी  कारण Cause के फलस्वरुप दो वस्तुओं पर समान प्रभाव को व्यक्त करता है ऐसी पूर्वधारणा (ASSUMPTION) को वैध मानना चाहिए
किसी पूर्वधारणा (ASSUMPTION) में कथन की पुनरावृति (Repetation) नहीं होनी चाहिए 
किसी पूर्वधारणा (ASSUMPTION) में तुलना हमेशा गलत होती है
जो समान कर्म पर किसी  कारण Cause के फलस्वरुप दो वस्तुओं पर समान प्रभाव को व्यक्त करता है ऐसी पूर्वधारणा (ASSUMPTION) को वैध मानना चाहिए

उदाहरण 
कथन: प्राथमिक विद्यालयों में मदद दिवस का भोजन उपलब्ध कराने से विद्यालय आने वाले छात्रों की संख्या में बढ़ोतरी हुई है 
पूर्वधारणाएं: I. मध्य दिवस का भोजन बच्चों को विद्यालय आने के लिए आकर्षित करेगा 
         II. वे बच्चे जो अच्छे भोजन से वंचित हैं विद्यालय में आएंगे 

व्याख्या (Explanation): क्योंकि कथन में यह दिया हुआ है कीमत दिवस का भोजन उपलब्ध कराने से विद्यालयों में छात्रों की संख्या में बढ़ोतरी हुई है अतः इसमें यह पूर्ण धारा बनती है कि मध्य उसका भोजन बच्चों को विद्यालय आने के लिए आकर्षित करेगा इसलिए पूर्वधारणा I वैध है 
दूसरी ओर कथन में मध्य दिवस के भोजन की विशेषता स्पष्ट नहीं की गई है इसलिए पूर्वधारणा नहीं बनेगी कि बच्चे जो अच्छे भोजन से वंचित हैं विद्यालय में आएंगे 

उदाहरण 
कथन: हमारी धरती पर पशुओं की अनेक प्रजातियां का अभी वैज्ञानिक तरीके से अध्ययन नहीं हुआ है और यदि हम इस कार्य को तत्काल नहीं करते हैं तो अनेक प्रजातियों का विलुप्त होने का खतरा है 

पूर्वधारणाएं: I. पशुओं का विलुप्त होना अवांछनीय है
         II. अनेक पशु प्रजातियों का वैज्ञानिक अध्ययन करना वांछनीय और संभव है
         III. यदि हम पशु पर जातियों का वैज्ञानिक तरीके से अध्ययन करते हैं तो हम उन्हें विलुप्त होने से बचा सकते हैं 

व्याख्या (Explanation): पर यह तथ्यों के आधार पर, धरती पर सभी पूर्वधारणाएं वैध होंगे




Share This Topic On




0 Comments:

Post a comment