Free Download PDF || English Grammar || Sentence Transformation - हिंदी में


Free Download PDF || English Grammar || Sentence Transformation - हिंदी में
Sentence Transformation

Contents
 Pdf File Contains Following Topics
Present Indefinite को past indefinite में बदलना
Present Indefinite को Future indefinite में बदलना
Present Continuous Tense को Past Continous Tense में बदलना 
Present Continuous Tense को Future Continous Tense में बदलना 
Present Perfect Tense को Past Perfect Tense में बदलना 
Present Perfect Tense को Future Perfect Tense में बदलना 
Present Perfect Continuous Tense को Past Perfect Continuous Tense में बदलना 
Present Perfect Continuous Tense को Future Perfect Continuous Tense में बदलना 


दुनिया की मशहूर इंटरनेट कम्पनियां, उनके संस्थापक और स्थापित-वर्ष


दोस्तों यहाँ मै दुनिया की मशहूर इंटरनेट कम्पनियां, उनके संस्थापक और स्थापित-वर्ष (famous internet companies founder year )दे रहा हूँ , ये लगभग हर एग्जाम में 1 से 2 नंबर का रोल अदा करते हैं अतः इन्हे एग्जाम से पहले revise करना न भूलें 

World famous internet companies founder year
इंटरनेट कम्पनियां, उनके संस्थापक और स्थापित-वर्ष

EMI Calculator - Personal Loan, Home Loan तथा Car Loan के लिए

EMI क्या है?
EMI का मतलब होता है समान मासिक किस्त  या  EMI - जब हम किसी बैंक या किसी वित्तीय संस्थान से Loan लेते हैं तो हमें उस बैंक या  वित्तीय संस्थान को हर महीने एक  राशि/धन देना  होता  है जब तक कि Loan  /राशि पूरी तरह से अदा नहीं हो जाती। इसमें लिए गए Loan पर ब्याज के साथ-साथ मूलधन का हिस्सा भी चुकाना होता है। EMI में आपकी मूल Loan  राशि और ब्याज राशि शामिल होती है, जो हर महीने देय होती है।
 Personal Loan, Home Loan तथा Car Loan Calculator

जब हम किसी बैंक या किसी वित्तीय संस्थान से Loan लेते हैं तो हमें उस बैंक या  वित्तीय संस्थान से एक निश्चित दर के साथ एक निश्चित समय के लिए  ब्याज तय किया जाता है जिसको मूल राशि में जोड़ने के बाद महीनों की संख्या से भाग देकर  हर महीने एक राशि/धन (EMI) निर्धारित की जाती है  अर्थात मूल राशि और ब्याज का योग कार्यकाल/अवधि, यानी महीनों की संख्या से विभाजित होता है, जिसमें Loan  के रूप में चुकाना पड़ता है और  इस राशि (EMI) का मासिक भुगतान बनता  है।


Compound Interest Calculator - अपना चक्रवृद्धि ब्याज कैलकुलेट करें

Compound Interest Calculator

चक्रवृद्धि ब्याज (Compound Interest) कैलकुलेटर 

यहाँ पर चक्रवृद्धि ब्याज (Compound Interest)  की गणना करने के लिए जो   Formula प्रयोग किया गया  है वह निम्न लिखित है 

चक्रवृध्दि ब्याज = मूलधन [1+(दर/100)]समय मूलधनचक्रवृद्धि ब्याज की गणना करने का सूत्र (Formula)

चक्रवृध्दि ब्याज = मूलधन [1+(दर/100)]समय मूलधन

मूलधन= उधार दिया गया धन
समय= उधार धन की अवधि
दर= जिस दर से ब्याज की गणना की जाएगी

मिश्रधन = मूलधन [1+(दर/100)]समय
मिश्रधन = मूलधन + चक्रवृध्दि ब्याज
मूलधन = मिश्रधन - चक्रवृध्दि ब्याज
चक्रवृध्दि ब्याज= मिश्रधन - मूलधन

अथवा
A= P(1+r/n)(nt)   
जहाँ  –
P = मूलधन 
r = ब्याज की वार्षिक दर
n =  ब्याज-चक्रों की संख्या
t = कुल समय (वर्षों में)
A = t समय बाद मिश्रधन


Simple Interest Calculator - साधारण ब्याज कैलकुलेटर

Byaj Calculator 2 Prakar Ka Hota Hai. 1- Sadharan Byaj Calculator Aor.  2- Charkvridhi Byaj Calculator. Waise Byaj Calculator Se Matlab Sadharn Byaj Se Hota Hai. Aor Yadi Aap Charkvridhi Byaj Calculator Ka Upyog Karna Chahte Hain To Aise Byaj Calculator Ke Hamne Is Calculator Dosre Post Me Diya Hua Jise Aap Neeche Ki Link Se Seedhe Ja Sakte Hain.



Agar Aap Byaj Calculator Me Emi Calculator Ka Upyog Karna Chahte Hai To Aap Yahan Neeche Di Hui Link Ko Open Karke Kar Sakte Hain.


साधारण ब्याज कैलकुलेटर
Simple Interest Calculator

साधारण ब्याज कैलकुलेटर में प्रयोग होने वाले मुख्य बिंदु-
ब्याज (Interest):- ब्याज वह धन है  जब हम कभी किसी  दुसरे व्यक्ति या बैंक सें पैसा उधार लेते है तो उस धन के उपयोग करनें पर हमें उस  व्यक्ति अथवा बैंक को एक अतिरिक्त राशि  देनी पड़ती है जोकि   ब्याज कहलाता है।
(Simple Interest):- साधारण ब्याज वह ब्याज है जो किसी मूलधन पर एक निश्चित  दर से एक निश्चित समय के लिए लगाया जाता है
सूत्र
साधारण ब्याज , साधारण ब्याज कैलकुलेटर में निम्नलिखित सूत्र का प्रयोग करके निकाला गया है
साधारण ब्याज=(मूलधन x दर x समय)/100
मूलधन (Principal):-  वह धन जो किसी व्यक्ति को उधार या उसे कर्ज के लिए दिया जाता है
मिश्रधन (Amount):-  मिश्रधन,  मूलधन और ब्याज का योगफल होता  है।
दर (Rate):- जिस दर/हिसाब से  सालाना ब्याज मिलता है उसे  ब्याज की दर कहते है
समय (Time):- वह समय  जितने दिन  के लिए  धन उधार लिया जाता है उसे ब्याज का समय कहलता  है।
Simple Interest Calculation