समान्तर चतुर्भुज की विशेषताएं, क्षेत्रफल, परिमाप और विकर्ण सूत्र/ प्रश्न

समान्तर चतुर्भुज की विशेषताएं, क्षेत्रफल, परिमाप और विकर्ण सूत्र/ प्रश्न

समान्तर चतुर्भुज की परिभाषा
"ऐसी चतुर्भुजीय ज्यामिति आकृति जिसमें आमने सामने की भुजाएं समान्तर होती हैं तो वह चतुर्भुज  समान्तर चतुर्भुज कहलता है ।"

समान्तर चतुर्भुज

समान्तर चतुर्भुज (Parallelogram) की विशेषताएं
  1. समान्तर चतुर्भुज की आमने सामने की भुजाएं आपस में बराबर और समान्तर होती हैं।
  2. समान्तर चतुर्भुज के  विकर्ण एक दूसरे को समद्विभाजित करते हैं।
  3. समान्तर चतुर्भुज के आमने सामने के कोण एक दूसरे के बराबर होते हैं।
  4. समान्तर चतुर्भुज के विकर्ण आमने सामने के कोण को समद्विभाजित करते हैं।
samantar chaturbhuj

समान्तर चतुर्भुज (Parallelogram) के महत्त्वपूर्ण सूत्र :

समान्तर चतुर्भुज (Parallelogram) का परिमाप :
परिमाप = 2 x संलग्न भुजाओं का योगफल 

समान्तर चतुर्भुज (Parallelogram) का  क्षेत्रफल:
क्षेत्रफल =आधार x समान्तर भुजाओं के बीच की दूरी



समान्तर चतुर्भुज (Parallelogram) हेतु  विशेष नोट: 
  1. प्रत्येक वर्ग समान्तर चतुर्भुज होता है।
  2. प्रत्येक आयत समान्तर चतुर्भुज होता है।
  3. प्रत्येक सम चतुभज समान्तर चतुर्भुज होता है।


समान्तर चतुर्भुज की विशेषताएं, क्षेत्रफल, परिमाप और विकर्ण सूत्र/ प्रश्न - Properties Of Parallelogram, Area, Perimeter And Diagonal Formula / Questions

उपर्युक्त पोस्ट से सम्बंधित विषय -
पढ़ें: टॉपर्स पसन्द टॉपिक्स और नोट्स / मुख्य विषय -
पढ़ें: परीक्षा उपयोगी स्टडी मटेरियल -

Share This Topic On




0 Comments:

Post a comment