साझेदारी (Partnership) Concepts

साझेदारी (Partnership) Concepts



साझेदारी(Partnership): जब दो या दो से अधिक व्यक्ति मिलकर कोई व्यापार करते हैं तो इसे साझेदारी कहते हैं। वे व्यक्ति जो धन का निवेश करते हैं, साझेदार कहलाते हैं। ये साझेदार उस व्यापार में होने वाले लाभ एवं हानि के लिए उत्तरदायी होते है। जो धन उस व्यापार में लगाया जाता है उसे पूंजी (Capital) कहते है।
साझीदारों द्वारा व्यापार में लगाया गया धन
, व्यापार में प्राप्त लाभ, साझेदारों के बीच निवेशित धन तथा समय के गुणनफल के अनुपात में किया जाता है।
सक्रिय साझेदार :- ऐसे व्यक्ति  पूंजी लगाने के साथ साथ साथ व्यापार की देखभाल भी करते है, तो उन्हें सक्रिय  साझेदार कहा जाता है।
निष्क्रिय साझेदार :- ऐसे साझेदार जो  व्यापार में केवल धन का निवेश करते हैं, निष्क्रिय साझेदार कहलाते हैं


माना A  और B मिलकर C1 और C2 पूँजी समय t1 और t2 के लिए लागाते हैं तथा इस समय आवादी (Timeperiod ) के अंत में इनको P1 और P2 लाभ हो तो पार्टनरशिप के नियमानुसार







इस प्रकार यदि निवेश की अवधि प्रत्येक साझेदारों के लिए समान हो अर्थात t सामान हो, तो लाभ या हानि उनके निवेशों के अनुपात में विभाजित हो जाती है।
यदि A और B किसी व्यापार में साझेदार हो, तो
A का निवेश : B का निवेश
= A का लाभ : B का लाभ या
= A की हानि : B की हानि 

अगर तीन साझीदार हों तो
यदि A, B और C किसी व्यापार में साझेदार हो तो,
A का निवेश : B का निवेश : C का निवेश
= A का लाभ : B का लाभ : C का लाभ या
= A की हानि : B की हानि : C की हानि

अगर n साझीदार हों तो ……
यदि A, B और C और n तक लोग  किसी व्यापार में साझेदार हो तो,
A का निवेश : B का निवेश : C का निवेश :……..n लोगों का निवेश  
= A का लाभ : B का लाभ : C का लाभ:….. n लोगों का लाभ या
= A की हानि : B की हानि : C की हानि:……. n लोगों की हानि

उदाहरण(1) : रमेश और सुरेश ने क्रमशः 10000 रु तथा 15000 रु लगाकर एक व्यापार आरम्भ किया । एक वर्ष के अंत में 5000 रु का कुल लाभ हुआ तो दोनों का लाभांश ज्ञात करो ?
रमेश और सुरेश के लाभांश का अनुपात= 10,000:15,000=2:3
 चूँकि    5 unit= 5000
इसलिए  1 unit= 1000
इसलिए  2 unit= 2000
इसलिए  3 unit=3000
रमेश और सुरेश के लाभांश  2000 रु तथा 3000 रु

उदाहरण (2) गीता  ने 30 रू 6 महीने के लिए लगाये तथा नेहा  ने 40 रू 5 महिने के लिए लगाये तो वर्ष के अन्त में लाभ 380 रू हुआ तो गीता  व नेहा  का लाभ में हिस्सा क्या होगा ?
गीता  की पुंजी 30*6=180
नेहा  की पुंजी = 40*5=200
अनुपात = 180:200=9:10
अनुपातों का योग = 19
लाभ = 380रू
गीता  का हिस्सा जब लाभ 380रू = (380x9)/19= 180 रू
नेहा  का हिस्सा जब लाभ 380रू = (380x10)/19 = 200 रू


उदाहरण (3) सीमा, रीना, सनिया और कल्पना ने मिलकर एक व्यापार आरम्भ किया और इन्होंने क्रमशः 20,00 रू, 30,00 रू, 50,00 रू तथा 70,00 रू लगाये वर्ष के अन्त में लाभ यदि 80,00 रू हुआ हो तो प्रत्येक का लाभ में हिस्सा ज्ञात करो ?
सीमा, रीना, सनिया और कल्पना की पुंजीयों का अनुपात = 20,00:30,00:50,00:70,00 = 20:30:50:70
अनुपातों का योग = 20+30+50+70 = 170रू
सीमा का हिस्सा = (20/170)x80,00 =941.18रू
रीना का हिस्सा =(30/170)x80,00=1411.76रू
सनिया हिस्सा =(50/170)x80,00 =2352.76रू
कल्पना का हिस्सा =(70/170)x80,00 =3294.12रू


उदाहरण (4) A, B तथा C एक व्यापार आरम्भ करते हैं A पहले 50,000 रू लगाता हैं और 6 महिने बाद 20,000 रू निकाल लेता है। B ने प्रारम्भ में 20,000 रू लगाये 5 माह बाद 30,000 रू ओर लगाये, C ने 60,000 रू एक वर्ष के लिए लगाये यदि वर्ष के अन्त में लाभ 80,000 रू का हुआ तो C का लाभ में हिस्सा कितना होगा ?
A की पुंजी = 50,000x6+30,000x6 =4,80,000
B की पुंजी = 20,000x5+50,000x7 =4,50,000
C की पुंजी = 60,000x12 =7,20,000
, , तथा ग की पुंजीयों का अनुपात =4,80,000:4,50,000:7,20,000 = 48:45:72
राशियों का योग = 165
C का लाभ में हिस्सा = 72/165x80,000 = 34,909.09 रू

पढ़ें: टॉपर्स पसन्द टॉपिक्स और नोट्स -
पढ़ें: परीक्षा उपयोगी स्टडी मटेरियल -

Share This Topic On




0 Comments:

Post a comment